श्री झांतला माता मंदिर, पांडोली चित्तौड़गढ़

॥ जय श्री सांवलिया सेठ ॥ बोल कर अधिक से अधिक इस पोस्ट को शेयर एवम लाइक करें, सेठ जी आपकी मनोकामना अवश्य पूरी करेंगे |

चित्तौड़गढ़ ज़िला मुख्यालय से 9 किमी दूर माताजी की  पांडोली स्थित श्री झांतला माता जी की एक प्रमुख शक्तिपीठ है ।
यहाँ  आने वाले हर श्रद्धालु की मनोकामनायें पूरी होती है। यहाँ विशेषकर लकवाग्रस्त लोगो को लाया जाता है।  मान्यता है की माँ के आशीर्वाद से लकवाग्रस्त रोगी भले चंगे होकर घर लौटते है । जो रोगी के रूप में सोते या बैठे हुए आते है वे हँसते हुए जाते है । इस मूर्ति को चमत्कारिक माना  जाता है जिसके  दर्शन मात्र से ही सारी पीड़ाये दूर ही जाती है और मन को सुकून मिलता है ।

श्री झांतला माता ,माताजी की पांडोली चित्तौड़गढ़

श्री झांतला माता ,माताजी की पांडोली चित्तौड़गढ़

बताते है की श्री झांतला माता की मूर्ति यहाँ महाभारत काल से ही है । इस शक्तिपीठ पर हर साल  लाखो श्रद्धालु अपनी- अपनी मन्नत ले के आते है । यहाँ हर साल दोनों नवरात्रा में नौ ही दिन मेले का आयोजन किया जाता है । वास्तव में माँ की महिमा का जितना गुणगान  किया जाये उतना ही कम है ।

॥ जय माता दी ॥

श्री झांतला माता ,माताजी की पांडोली चित्तौड़गढ़

श्री झांतला माता ,माताजी की पांडोली चित्तौड़गढ़

Jhatla Mata Mandir Aarti Darshan Time Pandoli Chittorgarh

Jhatla Mata Mandir Aarti Darshan Time Pandoli Chittorgarh

जानिए माता के एक और प्रसिद्ध मंदिर श्री आसावरा माता मंदिर चित्तौडग़ढ़ के बारे में जहाँ भी लकवाग्रस्त रोगी ठीक हो जाते है । क्लिक करें

॥ जय श्री सांवलिया सेठ ॥ बोल कर अधिक से अधिक इस पोस्ट को शेयर एवम लाइक करें, सेठ जी आपकी मनोकामना अवश्य पूरी करेंगे |
ALSO READ  Amba Mata, Nimbahera

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *