दिल तेरे बगेर नाहियो लगदा

॥ जय श्री सांवलिया सेठ ॥ बोल कर अधिक से अधिक इस पोस्ट को शेयर एवम लाइक करें, सेठ जी आपकी मनोकामना अवश्य पूरी करेंगे |

कार्तिक कृष्ण पक्ष अष्टमी, 23 अक्टूबर 2016 के दर्शन

वे श्याम कुंडला वालिया,
दिल तेरे बगैरनाहियो लगदा ।
वे सोहने हारा वालेया,
दिल तेरे बगैर नहिओ लगदा ।
नहिओ लगदा वे श्यामा,
दिल तेरे बगेर नाहियो लगदा ॥

तेरे नाल प्यार पा के श्यामा, हो गयी आ मैं दीवानी ।
दीवानी मैं किवे ना होवा, मैनू मिल गया दिल दा जानी ।
दीवाना बनान वालेया, दिल तेरे बगैर नहिओ लगदा…

सारे दर छड आईआं श्यामा, तू ना पलड़ा छुडावी ।
वे निक्की जही जिन्द मेरी श्यामा, सह नहीं सकदी जुदाईया ।
जुदाईया मिटान वालेय, दिल तेरे बगैर नहीं लगदा…

प्यार वाला रोग अवल्डा, जेहडा दसेया किसे नु ना जावे ।
वे इक वारी मिल श्यामा, मेरे ठण्ड कलेजे पावे ।
ठण्ड कलेजे पान वालेया, दिल तेरे बगैर नहीं लगदा..

निक्की निक्की गल करके श्यामा कित्ता है सानु काबू।
लोकी सारे कहंदे ने, मेरे श्याम ने पाया जादू ।
वे जादूयाँ दे पान वालेया, दिल तेरे बगैर नहीं लगदा.

॥ जय श्री सांवलिया सेठ ॥ बोल कर अधिक से अधिक इस पोस्ट को शेयर एवम लाइक करें, सेठ जी आपकी मनोकामना अवश्य पूरी करेंगे |
ALSO READ  भजन : शिव शंकर को जिसने पूजा उसका ही उद्धार हुआ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *