Recent News Update


Bhakton Ke Vichar

  • Rahul babarwal Sawriya Seth ki Jai
  • T.N.KRISHNAN. EXCELLENT DETAILS RE GIVEN FOR WELFARE DAY TO DAY LIVEING IN
  • Prashant Gite Jay shree ram Shree hanumaan ji sb papo se mukti dilao
  • Asha b dalwadi Very nice information for akadshi i like Thank you
  • sunil patel jai ho shree Sanwaliya ji ki
  • प्राचीन मंदिर भादसौड़ा स्थित सांवलिया सेठ मंदिर- Bhadsoda Sanwaliyaji

    सांवलिया सेठ का तीसरा मंदिर भादसौड़ा कस्बे में स्थित है । यह मंदिर सबसे पुराना मंदिर है इसलिए यह सांवलिया सेठ प्राचीन मंदिर के नाम से जाना जाता है । भादसोड़ा में सुथार जाति के अत्यंत ही प्रसिद्ध गृहस्थ संत पुराजी भगत रहते थे। उनके निर्देशन में सबसे बड़ी मूर्ति को भादसोड़ा गाँव लाया गया जहाँ उदयपुर मेवाड राज-परिवार के भींडर ठिकाने की ओर से भगतजी के निर्देशन में सांवलिया जी का मंदिर बनवाया गया।
    Third temple of Sanwaliyaji is situated in Bhadsoda village.This temple is 1.5 km from bhadsoda cross road (chouraha).