Recent News Update


Bhakton Ke Vichar

  • TARUN SHARMA बहुत अच्छी वेबसाइट बना
  • GOVIND GOUR jai hooshree sanweriya seth ki jai ho....
  • GOVIND GOUR sanwriya set ki jai hoo. jai shree krishana ....vande vishnu
  • GOVIND GOUR jai hoo sanwriya set ki jai hoo... setho ke set sanwriya set
  • Shanker Lal Aheer jalampura Jay Shree Krishna
  • sanwaliyaji seth website online जय श्री सांवलिया सेठ की
    sanwariya ji website online

    विश्व प्रसिद्द श्री सांवलिया सेठ के मंदिर राजस्थान के चित्तौड़गढ़ जिले में स्थित है। यहाँ दूर-दूर से लाखों यात्री प्रति वर्ष दर्शन करने आते हैं, विशेषकर उत्तर- पश्चिमी भारत के अनेको राज्य जैसे मध्य प्रदेश, गुजरात, महाराष्ट्र, दिल्ली, उत्तर प्रदेश से लाखों की संख्या में श्रद्धालु आते हैं। किवदंतियो के अनुसार सन 1840 में भोलाराम गुर्जर नाम के एक चरवाहे को आये स्वप्न के अनुसार भादसौड़ा-बागुंड गाँव की सीमा पर खुदाई करने पर कृष्ण रूप श्री सांवलिया सेठ की 4 मूर्तियां प्रकट हुयी । सांवलिया सेठ की पूरी कहानी जानने की लिए क्लिक करें इस प्रकार सांवलिया सेठ की तीनों मूर्तियों की तीन मंदिरों में प्राण प्रतिष्ठा की गयी। ये तीनो मंदिर चित्तौड़गढ़ से उदयपुर जाने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग सं. 76 अथवा 27-48(स्वर्ण चतुर्भुज सड़क योजना) पर स्थित है। नीचे मानचित्र में देखें ।

    Mandpiya Sanwaliyaji Temple Chittorgarh Rajasthan
    Mandpiya Sanwaliyaji Temple Chittorgarh Rajasthan
    Mandpiya Sanwaliyaji Temple Chittorgarh Rajasthan
    मंडफिया सांवलिया सेठ मंदिर (मुख्य मंदिर)

    मंडफिया मंदिर कृष्ण धाम के रूप में सबसे ज्यादा प्रसिद्द है। यह मंदिर चित्तौड़गढ़ रेलवे स्टेशन से 41 किमी एवं डबोक एयरपोर्ट-उदयपुर से 65 किमी की दुरी पर स्थित है। नीचे मानचित्र में देखें। मंडफिया मंदिर देवस्थान-विभाग राजस्थान-सरकार के अन्तर्गत आता है । और जाने...

    Bhadsoda - Bagund Chouraha Sanwaliyaji Temple Chittorgarh Rajasthan
    Bhadsoda - Bagund Chouraha Sanwaliyaji Temple Chittorgarh Rajasthan
    Bhadsoda - Bagund Chouraha Sanwaliyaji Temple Chittorgarh Rajasthan
    मूर्ति प्राकट्य स्थल मंदिर - भादसौड़ा-बागुंड चौराहा

    सांवलिया सेठ का दूसरा मंदिर भादसौड़ा- बागुंड चौराहे पर स्थित है जहाँ से सांवलिया सेठ की मुर्तिया प्रकट हुई । इसे प्राकट्य स्थल मंदिर भी कहा जाता है । यह मंदिर चित्तौड़गढ़ रेलवे स्टेशन से 35 किमी एवं डबोक एयरपोर्ट-उदयपुर से 59 किमी की दुरी पर स्थित है। और जाने...

    Bhadsoda Village Sanwaliya Seth Temple Chittorgarh Rajasthan
    Bhadsoda Village Sanwaliya Seth  Temple Chittorgarh Rajasthan
    Bhadsoda Village  Sanwaliya Seth Temple Chittorgarh Rajasthan
    प्राचीन मंदिर (भादसौड़ा स्थित सांवलिया सेठ मंदिर)

    सांवलिया सेठ का तीसरा मंदिर भादसौड़ा कस्बे में स्थित है । यह मंदिर सबसे पुराना मंदिर है इसलिए यह सांवलिया सेठ प्राचीन मंदिर के नाम से जाना जाता है । इस मंदिर को उदयपुर मेवाड राज-परिवार के भींडर ठिकाने की ओर से बनवाया गया। और जाने...


    Our Specials
    Mandpiya Sanwaliyaji Temple Chittorgarh Rajasthan
    Mandpiya Sanwaliyaji Temple Chittorgarh Rajasthan
    Mandpiya Sanwaliyaji Temple Chittorgarh Rajasthan
    Mandpiya Sanwaliyaji

    First Temple is situated in Mandpiya village also known as Sanwariyaji. Mandaphiya is 7 km. from Bhadsoda Chouraha which lies on the four - lanned highway no. 76, 35 km from Chittorgarh district headquerter and Chittorgarh Railway Station (COR). Bhadsoda Chouraha is 60 km from Dabok (Udaipur airport).See Map above

    Bhadsoda - Bagund Chouraha Sanwaliyaji Temple Chittorgarh Rajasthan
    Bhadsoda - Bagund Chouraha Sanwaliyaji Temple Chittorgarh Rajasthan
    Bhadsoda - Bagund Chouraha Sanwaliyaji Temple Chittorgarh Rajasthan
    Bhadsoda - Bagund Chouraha Sanwaliyaji
    (Murti Prakatya Sthal)

    Second temple of Sanwaliyaji is situated at Bhadsoda- Bagund Chouraha also known as Murti Prakatya Sthal Mandir which lies on the four - lanned highway no. 76. Bhadsoda Chouraha is 60 km. from Dabok (Udaipur Airport) and 35 km from Chittorgarh Railway Station and Bus-Station.See Map above

    Bhadsoda Village Temple Chittorgarh Rajasthan
    Bhadsoda Village Temple Chittorgarh Rajasthan
    Bhadsoda Village Temple Chittorgarh Rajasthan
    Bhadsoda Village Sanwaliyaji (Prachin Mandir)

    Third temple of Sanwaliya Seth is situated in Bhadsoda Village.It is an one of the oldest temple of sanwalia seth.This temple is 1.5 km from Bhadsoda Chouraha on Udaipur Road.See Map above